सोना असली है या नकली, मिनटों में ऐसे करें पहचान, जानिए आसान टिप्स

0
604

भारत में हॉलमार्किंग सोने की शुद्धता की गारंटी होती है और देश के कई शहरों में अब हॉलमार्किंग अनिवार्य हो गई है। लेकिन, फिर भी अगर कोई ज्वेलर आपको धोखा दे रहा हो तो आप इन टिप्स को अपनाकर नकली सोना पहचान सकते हैं।

जानिए क्या होती हैं नकली सोना पहचाने का तरीका

हॉलमार्क

भारत में BIS संस्था ग्राहकों को बेचे जा रहे आभूषण की गुणवत्ता स्तर की जांच करती है। इसलिए BIS हॉलमार्क देखकर सोना खरीदें। वहीं असली हॉलमार्क पर भारतीय मानक ब्यूरो का तिकोना निशान होता है और उस पर हॉलमार्किंग सेंटर के लोगो के साथ सोने की शुद्धता भी लिखी होती है।

घरेलू उपाय

घर पर असली सोना पहचाने के लिए आपको एक बाल्टी में पानी लेना होगा। इसके बाद इसमें सोने के गहने को डालें अगर गहना डूब जाए तो समझिए सोना असली है, वहीं अगर यह कुछ देर तैरता रहे तो समझिए सोना नकली है।

सिरके से करें सोने की पहचान

विनेगर की मदद से भी सोने की पहचान की जा सकती हैं। विनेगर की कुछ बूंदों को सोने की ज्वेलरी पर डालें अगर इसका रंग में कोई बदलाव नहीं होता तो समझिए सोना असली है। वहीं, अगर इसका रंग बदलता है तो यह नकली है।

एसिड टेस्ट

एसिड टेस्ट के लिए पिन से सोने पर हल्का सा खरोच लगाएं और फिर उस खरोच पर नाइट्रिक एसिड की एक बूंद डाले। नकली सोना तुरंत ही हरा हो जाएगा, जबकि असली सोने पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

मैग्नेट टेस्ट

सोने की पहचान करने के लिए आप ये मैग्नेट टेस्ट भी कर सकते हैं। सोना चुंबक पर चिपकता नहीं है, इसलिए एक स्ट्रांग चुंबक लें और उससे सोने को चिपकाएं। अगर सोना थोड़ा सा भी चुंबक आर चिपक जात है तो मतलब सोने में कुछ ना दिक्कत है। इसलिए चुंबक से चैक करके ही सोना खरीदें।

खनक पर दें ध्यान

असली और नकली सिक्कों की पहचान उसकी खनक से की जाती है। मेटल पर असली चांदी का सिक्का गिराने पर भारी आवाज, जबकि नकली सिक्का लोहे की तरह खनकता है। प्राचीन और विक्टोरियन सिक्के गोल व घिसे रहते हैं, जबकि नकली सिक्कों के किनारे कोर खुरदुरी रहती है।

वहीं इन टिप्स को अपनाकर आप आराम से सोना की पहचान कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here