दुबई में ड्यूटी के दौरान हादसे का शिकार हुआ भारतीय कामगार, हुई मौ’त; अब स्वदेश लौटा पार्थिव शरीर

0
819

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले स्थित पटहेरिया थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत कोइलसवा बुजुर्ग के लावंगियाडीह के निवासी नथुनी शर्मा उम्र 55 साल का पा’र्थिव शरीर उनके गांव लाया गया। नथुनी शर्मा के परिजन पा’र्थिव शरीर को देखकर फ’फ’क़ पड़ें। नथुनी शर्मा का शो घर आते ही परिजनों में को’हरा’म मच गया।

कुशीनगर जनपद के रहने वाले नथुनी शर्मा तकरीबन ढाई साल पहले दुबई स्थित अबू धाबी में कारपेंटर का काम करने गए थे। मिली जानकारी के अनुसार 14 नवंबर को दोपहर में ड्यूटी के दौरान कंपनी का भारी-भरकम गेट उनके ऊपर गि’र गया था। इस दु’र्घ’ट’ना में नथनी शर्मा (55) की मौके पर ही मौ’त हो गई थी। काफी प्रयासों के बाद बुधवार की शाम दुबई से उनके श’व को लाया जा सका।

भाजपा नेता के प्रयासों से लाया गया श’व

इस कंपनी ने उनको अपना कामगार मानने से इनकार कर दिया था। मगर उनके परिजनों ने भाजपा नेता शलभ मणि त्रिपाठी मनजीत तिवारी और मनीष चंद्र कौशिक को मामले से अवगत कराया। इसके बाद इन नेताओं ने सोशल मीडिया पर ट्वीट कर विदेश मंत्रालय से मदद की गुहार की। विदेश मंत्रालय ने मामले का संज्ञान लेते हुए परिजनों को नथुनी शर्मा का श’व दुबई से भारत लाकर सौंपा है।

परिवार में तीन बेटियां और दो बेटे हैं 

नथुनी शर्मा अपने परिवार में अपने पीछे पत्नी सुशीला देवी सहित दो बेटे और तीन बेटियां छोड़ गए हैं। आपको बता दें कि भारत से बड़ी संख्या में लोग मजदूरी या नौकरी करने दुबई अक्सर जाते रहते हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह है कि उन्हें अपने गृह जनपद में उनकी योग्यता के अनुसार काम ना मिल पाना है। अगर उन्हें उनकी जनपद में ही उनकी योग्यता के अनुसार सरकार द्वारा काम मुहैया करा दिया जाए तो लोग पैसा कमाने के लिए विदेश का रुख नहीं करेंगें। मगर सरकारें इस तरफ ध्यान नहीं देती हैं जिसके चलते आए दिन ऐसी खबरें सुनने को मिलती रहती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here