Omicron के खतरे के बीच भारत सरकार का फैसला, अब 15 दिसंबर से नहीं शुरू होंगी इंटरनेशनल फ्लाइट्स

0
1052
इंटरनेशनल फ्लाइट

कोरोनावायरस के वैरिएंट की प्रभावशीलता को देखते हुए भारत सरकार ने शेड्यूल इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर से जारी प्रतिबंध नहीं हटाने का निर्णय लिया है। डीजीसीए ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोनावायरस के नए वेरिएंट के मद्देनजर वैश्विक परिस्थितियों के सभी पक्षों से बातचीत जारी है।

इंटरनेशनल फ्लाइट को शुरू करने के बारे में जल्द ही जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। आपको बता दें कि इसके पहले डीजीसीए ने इशारा करते हुए कहा था कि कुछ प्रतिबंधों के साथ 15 दिसंबर से इंटरनेशनल फ्लाइट्स को फिर से सुचारू रूप से शुरू किया जाएगा।

फिलहाल निलंबित रहेंगी इंटरनेशनल फ्लाइट्स

दूसरी तरफ एयर बबल व्यवस्था के अंतर्गत संचालित की जाने वाली सभी इंटरनेशनल फ्लाइट पहले की तरह ही उड़ान भरती रहेंगी। कोरोनावायरस का नया वेरिएंट ओमी क्रोन के पहले केस की पुष्टि दक्षिण अफ्रीका में हुई है। देखते ही देखते दुनियाभर के तमाम देशों में कोरोनावायरस के इस वेरिएंट ने पैर पसार लिए हैं।

आपको बता देगी अभी कुछ दिनों पहले ही नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 15 दिसंबर से इंटरनेशनल फ्लाइट को फिर से चालू करने का निर्णय किया था। इसके बाद अब कोरोनावायरस के नए वेरिएंट का प्रसार होने के बाद फिलहाल नागरिक उड्डयन विभाग का यह निर्णय ठंडे बस्ते में जाने वाला है।

जारी रहेगी एयर बबल व्यवस्था

इसके पहले भारत ने कोरोनावायरस की शुरुआत में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को सस्पेंड कर दिया था। मगर दो देशों के बीच एयर बबल व्यवस्था के बीच कड़ी शर्तों के साथ उड़ाने जारी थी। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने अभी जल्दी जानकारी देते हुए कहा था कि जल्द ही कमर्शियल इंटरनेशनल पैसेंजर सर्विस को दोबारा शुरू करने के मामले में गृह मंत्रालय विदेश मंत्रालय के अलावा स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय से भी सलाह मशविरा की जा रही है।

कोरोनावायरस के नए वेरिएंट के आने के बाद मंत्रालय ने कुछ दिनों पहले ही कहा था कि इस वैरीअंट के प्रसार के आधार पर विदेशों की यात्रा करने वाले यात्रियों की उड़ानों पर उनकी श्रेणी के आधार पर प्रतिबंध लागू किए जाएंगे। इसके अलावा डोमेस्टिक फ्लाइट्स अपनी पूरी क्षमता के साथ उड़ान भरेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here