India

भारत में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगा बैन हटा, 2 साल बाद आज से 40 देशों के लिए शुरू फ्लाइट सेवा

कोरोनावायरस महामारी के कारण साल 2020 के मार्च महीने में रेगुलर इंटरनेशनल फ्लाइट पर लगा बैन 27 मार्च को खत्म हो गया। दूसरी तरफ 2 वर्ष लंबे अंतराल के बाद 6 इंडियन एयरलाइंस और 60 विदेशी एयरलाइंस ने भारत से 40 देशों के लिए उड़ान सेवा शुरू कर दी है। इसके मद्देनजर डीजीसीए ने इंटरनेशनल फ्लाइट के लिए कार्यक्रम जारी किया है।

डीजीसीए द्वारा जारी नए समर शेड्यूल के मुताबिक, विदेशी एयरलाइंस कंपनियां 1783 सप्ताहिक फ्लाइट्स का संचालन करेंगे दूसरी तरफ भारत की एयरलाइंस कंपनियां हर हफ्ते 1466 उड़ानों का संचालन करेंगी।

वही, मार्केट लीडर इंडिगो एयरलाइन हर हफ्ते 505 फ्लाइट्स का संचालन करेगा। जबकि टाटा ग्रुप के स्वामित्व में संचालित हो रही एयर इंडिया हफ्ते में 361 फ्लाइट्स और एयर इंडिया की सहायक एयर इंडिया एक्सप्रेस 1 हफ्ते में 340 फ्लाइट्स का संचालन करेगी।

2 वर्ष बाद इंटरनेशनल फ्लाइट्स से हटाया गया बैन

2 साल बाद शुरू हो रही इंटरनेशनल फ्लाइट्स के लिए पैसेंजर्स की तरफ से एयरलाइंस कंपनियों को अधिक दिलचस्पी होगी। कोरोनावायरस महामारी के कारण पहले से तय किए गए आखिरी कार्यक्रम के मुताबिक, देश के विभिन्न एयरपोर्ट से प्रति सप्ताह 4,700 इंटरनेशनल फ्लाइटों का संचालन किया जा रहा था।

अगर बात की जाए इंटरनेशनल फ्लाइट और डोमेस्टिक फ्लाइट्स की तो दोनों का विभाजन तकरीबन 50: 50 था। आपको बता दें कि शनिवार यानी कि 26 मार्च तक 37 देशों के साथ इंडिया में इंटरनेशनल फ्लाइट्स एयर बबल व्यवस्था के अंतर्गत संचालित की जा रही थी।

ये देश जुड़े हैं भारत के साथ

अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवा से प्रतिबंध समाप्त होने के बाद इंडिया के साथ जो देश जुड़े हैं उनमें, मलेशिया, ईरान, पोलैंड, दक्षिण कोरिया, तुर्की म्यांमार, मिस्र और यमन हैं। मान लीजिए कि यदि एयर बबल फ्लाइट की जगह रेगुलर फ्लाइट्स लेती हैं तो ऐसे में देश में अंतरराष्ट्रीय आगमन के लिए हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर मिनिस्ट्री द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस का पालन करना होगा।

भारत से इन देशों के लिए होंगी सबसे अधिक उड़ाने

आपको बता दें कि अमीरात भारत में इंटरनेशनल फ्लाइट्स संचालित करने वाली सबसे बड़ी एयरलाइंस कंपनी मानी जाती है। दुबई की यह कंपनी 1 सप्ताह में 170 फ्लाइट्स का संचालन करेगा। दूसरी तरफ शारजाह की एयर अरेबिया एयरलाइंस 140 फ्लाइट्स को संचालित करेगी। इसमें UAE की राजधानी अबूधाबी से इंडिया के लिए इस एयरलाइंस की 30 फ्लाइट्स होंगी।

इन देशों के लिए फ्लाइट का संचालन किया गया शुरू

श्रीलंका की एयरलाइंस प्रति सप्ताह 128 प्रस्थान फ्लाइ टों को संचालित करेगी। दूसरी तरफ ओमान एयर इंडिया के विभिन्न स्थानों से मस्कट के लिए प्रति सप्ताह 115 फ्लाइट्स का संचालन करेगी। जबकि ब्रिटिश एयरवेज हर हफ्ते 49 प्रस्थान उड़ानों का संचालन करेगी।

जर्मनी की एयरलाइंस कंपनी लुफ्थांसा 1 हफ्ते में 32 उड़ानों का संचालन करेगी। फ्रांस की एयर फ्रांस सप्ताह में 20 उड़ानों का संचालन करेगी। जबकि इस कंपनी की ग्रुप एयरलाइंस KLM इंडिया से एमस्टरडम के लिए हफ्ते में 18 फ्लाइटें उड़ान भरेंगी।

भारत से मलेशिया, सिंगापुर और थाईलैंड के लिए भी उड़ान सेवा

अब भारत से सिंगापुर एयरलाइंस एयरपोर्ट से हफ्ते में तकरीबन 15 बार फ्लाइट का संचालन करेगी। जबकि कम लागत वाली सिस्टर कंपनी स्कूट कंपनी 38 प्रस्थान फ्लाइटों का संचालन करेगी। मलेशिया एयरलाइंस 1 हफ्ते में 30 प्रस्थान फ्लाइटों का संचालन, मलेशियाई वाहक एयर एशिया बरहाद 71 फ्लाइटों का संचालन करेगी। दूसरी तरफ देश के तमाम एयरपोर्ट से थाई एयरवेज 36 और थाई स्माइल 21 उड़ानों का प्रतिसप्ताह संचालन करेगी।

इंडिया से अमेरिका और अफ्रीका के लिए उड़ान सेवा शुरू

इथोपियन एयरलाइंस, इजिप्ट एयर, एयर तंजानिया, रवांडा एयर और केन्या एयरवेज की फ्लाइटें सप्ताहिक फ्लाइट का संचालन करने वाली विभिन्न एयरलाइंस भारत और अफ्रीकी देशों के मध्य अपनी उड़ानों के माध्यम से बेहतर कनेक्टिविटी देने की कोशिश में है।

अगर बात करें अमेरिकी एयरलाइंस कंपनियों की तो अमेरिकन एयरलाइंस, यूनाइटेड एयरलाइंस भारत से 28 उड़ानों का संचालन करेंगे। दूसरी तरफ भारत से यूएसए (USA) के लिए ये दोनों एयरलाइंस कंपनियां प्रत्येक सप्ताह में 7 उड़ानों का संचालन करेंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button