World

उड़ते विमान में महिला ने दिया बेटी को जन्म, फ्लाइट स्टाफ की मदद से ऐसे हुई सफल डिलीवरी

इस दुनिया में कब, कहां और कैसे क्या हो जाए इस बारे में पहले से कुछ भी कहा नहीं जा सकता है। मानव जीवन में कई बार ऐसी घटनाएं घटित होती हैं। जिनकी पहले से ना तो उम्मीद होती है ना ही कोई कल्पना करता। हाल ही में कुछ इस तरह का वाकया एक महिला के साथ हुआ है।

जिसकी संभावना शायद नहीं थी। हुआ कुछ यूं कि एक महिला ने विमान में हजारों फीट की ऊंचाइयों पर एक बेबी गर्ल को जन्म दिया है। महिला की सफल डिलीवरी करवाने में एयरलाइंस की फ्लाइट स्टाफ का अहम रोल रहा है।

फ्लाइट में महिला को अचानक शुरू हुआ ले बर पेन

मिली जानकारी के अनुसार फ्लाइट डेनवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से ऑरलैंडो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे जा रही थी और इसी विमान में एक गर्भवती महिला भी सवार थे। जिसे अचानक ले’बर पेन शुरू हो गया। जिसकी जानकारी डायना गिराल्डो नाम की एक फ्लाइट अटेंडेंट को मिली। उन्होंने तुरंत उस महिला को प्लेन के पीछे वाले हिस्से में टॉयलेट में ले जाकर उन्होंने सफल डिलीवरी करवाई।

विमान को ले जाया गया दूसरे एयरपोर्ट

आपको बता दें कि इस विमान को डाइवर्ट करके पेनसाकोला हवाई अड्डे पर लाया गया। एयरपोर्ट पर पहले से ही पैरामेडिक्स की टीम उपस्थित थी। फ्रंटियर एयरलाइंस ने इस पूरे वाकए का विवरण एक सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिख कर दिया है। एयरलाइंस की तरफ से बताया गया कि उन्होंने अपने बच्चे का नाम ‘स्काई रखा है। एयरलाइंस द्वारा साझा की गई यह फेसबुक पोस्ट खूब वायरल हो रही है।

मां ने बच्‍ची का रखा अनोखा नाम

मां ने बच्ची को जन्म उड़ते फ्लाइट में हजारों फीट की ऊंचाई पर दिया। इसीलिए इसका नाम स्काई रखा। एयरलाइन्‍स के ये पोस्‍ट शेयर करते ही 2,000 से अधिक प्रतिक्रियाएं मिली हैं शेयर ने लोगों को तरह-तरह के कमेंट पोस्ट करने के लिए भी प्रेरित किया है।

हो रही है जमकर सराहना

इस पूरे वाक्ये पर लोग अपने अपने अंदाज में रिएक्शन दे रहे हैं और क्रू एयरलाइंस की जमकर सराहना भी कर रहे हैं। एक व्यक्ति ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा,”इस बच्ची को फ्रंटियर एयरलाइंस में हमेशा फ्री यात्रा मिलनी चाहिए।” जबकि एक दूसरे यूजर ने क्रू की सराहना करते हुए लिखा,”अमेजिंग! ग्रेट टीम वर्क। आपको बताते चलें कि इस पोस्ट को अब तक कुल 2.3 लोग पसंद कर चुके हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button