World

कोरोना महामारी के दौरान 97,802 भारतीयों ने छोड़ा कुवैत

कुवैत में भारतीय राजदूत सिबी जॉर्ज (Sibi George) ने एक जानकारी दी है और ये जानकारी भारतीयों के कुवैत छोड़ने को लेकर है। दरअसल, कुवैत के भारतीय राजदूत सिबी जॉर्ज ने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान कुवैत छोड़ने वाले लगभग 98,000 भारतीय वापस काम पर लौट आए थे।

भारत सरकार के विदेश मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, कोरोना महामारी के दौरान खाड़ी देशों के 700,000 से अधिक भारतीय अपने घर लौटे थे।

वहीं महामारी के दौरान कई प्रवासी, जो भारत लौटे थे। अब वे वापस मौजूदा समय में अपने काम पर लौट चुके हैं। इसमें से ज्यादातर प्रवासी उस समय अपने काम पर कुवैत वापस लौटे, जब भारत और कुवैत के बीच उड़ानें नियमित रूप से उपलब्ध हुई। वहीं अल राय के अनुसार, कुवैत में भारतीय दूतावास आपातकालीन मामलों की सहायता के लिए सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे खुला है।

संयुक्त अरब अमीरात द्वारा प्रकाशित जानकारी के अनुसार, 330,058 लोग भारत लौटे, इसके बाद सऊदी अरब 137,900, कुवैत 97,802 और ओमान 72,259 लोग भारत लौटे है।

गौरतलब है कि हाल ही में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बीते गुरुवार को राज्यसभा में जानकारी देते हुए कहा कि केंद्र सरकार इस प्रयास में जुटी हुई है कि भारतीय कामगार खाड़ी देशों में अपने काम करने वापस लौट सकें। इस मामले को हाई लेवल पर उठाया जा रहा है। एस जयशंकर ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान पूरक प्रश्नों के जवाब में यह जानकारी दी है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर प्रसाद ने प्रश्नकाल के दौरान पूरक प्रश्नों के जवाब में कहा कि खाड़ी देशों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने और कोरोना वायरस के मामलों में कमी आने के बाद अब यात्रा प्रतिबंधों में छूट दी गई है। इसी के चलते भारत के कामगार बड़ी संख्या में अब वहां लौट रहे हैं।

उन्होंने कहा, “मैं बताना चाहता हूं.. हमने खाड़ी देशों की सरकारों के साथ बातचीत की है, जिसका नेतृत्व खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया है। पिछले दो वर्षों के दौरान प्रधानमंत्री ने खाड़ी देशों के नेताओं व अपने समकक्षों के साथ 16 बार टेलीफोन पर बातचीत की।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button