World

दुबई पुलिस ने की बड़ी कार्रवाई, भीख मांग रहे 178 लोगों को किया गिरफ्तार

दुबई पुलिस ने 18 मार्च और रमजान के पहले दिन के बीच 178 भिखारियों को anti-begging campaign के तहत गिरफ्तार किया है। इसमें 134 पुरुषों और 44 महिलाएं शामिल हैं। इस बात की जानकारी एक प्रेस कांफ्रेंस में दी गयी है।

जानकारी के अनुसार, आपराधिक जांच के सामान्य विभाग में anti-infiltrators के कार्यवाहक निदेशक कर्नल अहमद अल अदीदी ने कहा कि पवित्र महीने से पहले अमीरात में भीख मांगने से निपटने के लिए एक टीम का गठन किया गया था, जहां भिखारियों के आने की संभावना है।

वहीं कर्नल अल अदीदी ने बताया कि अभियान ने भिखारियों की संख्या को सालाना कम करने में सफलता मिली। इसके साथ ही उल्लंघनकर्ताओं के खिलाफ सख्त प्रक्रियाओं और इस अवैध व्यवहार को खत्म करने के लिए आपराधिक जांच के सामान्य विभाग के प्रयास किए गए।

वहीं उन्होंने कहा, “आधिकारिक और धर्मार्थ संस्थाएं और प्राधिकरण जरूरतमंदों की मदद के लिए तैयार हैं।”

इसी के साथ कर्नल अल अदीदी ने कहा, “भीख मांगना हमारे समाज की सुरक्षा के लिए एक गंभीर खतरा है। हम मामले को गंभीरता से लेते हैं क्योंकि यह अमीरात की प्रतिष्ठा को बर्बाद करता है और सुरक्षा को भी प्रभावित करता है क्योंकि यह चोरी और जेबकतरे के मामलों को बढ़ाता है।”

वहीं उन्होंने ये भी कहा कि “ऐसे लोग हैं जो अपनी वित्तीय हताशा के साथ अपने अवैध व्यवहार को सही ठहराने का प्रयास करते हैं। हालांकि, 2018 के संघीय कानून संख्या 9 के अनुसार, भीख मांगने पर, संयुक्त अरब अमीरात में भीख मांगते हुए पकड़े गए किसी भी व्यक्ति पर Dh5,000 का जुर्माना लगाया जाएगा और तीन तक की कैद होगी।”

वहीं कर्नल अल अदीदी ने कहा, “भिखारियों के पेशेवर गिरोह चलाने वालों या देश के बाहर से लोगों को भिखारियों के रूप में भर्ती करने वालों को कम से कम छह महीने की जेल की सजा और कम से कम Dh100,000 जुर्माना का सामना करना पड़ता है।”

आपको बता दें, दुबई पुलिस ने जनता से भिखारियों को टोल-फ्री नंबर 901 पर या दुबई पुलिस ऐप के माध्यम से पुलिस नेत्र सेवा के माध्यम से, और डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डाॅट ecrime डाॅट ae पर साइबर-भिखारियों और संदिग्ध ऑनलाइन गतिविधियों की रिपोर्ट करने के लिए भी कहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button