World

Dubai से अवैध तरीके से लाया गया 11 किलो सोना, भारत पहुंचते ही एयरपोर्ट पर अधिकारियों ने ऐसे खोली पोल

विदेश से अवैध रूप से सोना लाना वैसे कोई नई बात नहीं है। दिन प्रतिदिन ऐसी घटनाएं सुनने, देखने और पढ़ने को मिलती रहती हैं। सोना लाने के आरोपियों को एयरपोर्ट पर कस्टम की टीम हिरासत में लेकर उनसे सोना बरामद करती है।

इसी क्रम में एक बार फिर एयरपोर्ट के अधिकारियों को बड़ी सफलता हाथ लगी है। मुंबई स्थित छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर दुबई से आने वाले सामान की जांच के दौरान तकरीबन छह करोड़ की कीमत का 11 किलोग्राम सोना जब्त किया गया है। बरामद किया गया यह गोल्ड विदेश से मंगाई गई मशीन के दो मोटर रोटार के अंदर छुपाया गया था। फिलहाल इस सोने के आयातक को दक्षिण मुंबई से गिरफ्तार कर लिया गया है और उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

अधिकारियों ने नाकाम किए मंसूबे

आपको बताते चलें कि कस्टम के अधिकारियों ने पिछले सप्ताह मुंबई और लखनऊ से बैक टू बैक 2 मामलों में एयरपोर्ट के रास्ते सोना लाने के प्रयासों को नाकाम कर दिया था।

ऐसे में मिली जानकारी के बाद डीआरआई के अफसरों ने दुबई से आने वाले एयर कार्गो कंपलेक्स में जांच की। डाक्यूमेंट्स देखने के बाद इस बात की पुष्टि हुई कि इसे नाली की सफाई मशीन के रूप में दिखाया गया है।

आरोपियों को मुंबई से अरेस्ट कर भेजा गया न्यायिक हिरासत में

हालांकि, जब अधिकारियों ने इन्वेस्टिगेशन की तो उसी दौरान गोल्ड डिस्क के तौर पर मिला। इस गोल्ड को लाने वाले शख्स को दक्षिण मुंबई से अरेस्ट किया गया है। जहां से उसे न्यायालय के समक्ष पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। हालांकि मामले की जांच अभी भी जारी है। रिपोर्ट में कहा गया कि साल 2021 22 में डीआरआई ने कुल 833 किलोग्राम सोना (जो तस्करी करके भारत लाया गया है) उसे ज़ब्त किया है।

गौरतलब है कि पिछले वर्ष डीआरआई ने कार्गो और कोरियर की जांच में सोने की जब्ती की थी। 2021 के जुलाई माह में 16.79 किलोग्राम सोना हिरासत में लिया था। जिसका मूल्य तकरीबन 8 करोड रुपए था। वही इसके तुरंत बाद 80.13 किलोग्राम सोना भी बरामद किया गया। इसका मूल्य लगभग 39.31 करोड़ रुपए था। अगर बात करें साल 2021 के नवंबर महीने में की गई जबकि की तो दिल्ली एयरपोर्ट पर एक मालवाहक विमान से भी अवैध सोना बरामद किया गया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button