World

रमजान के शुरू होने से पहले शारजाह शासक ने किया 225 कैदियों को माफ, रिहाई का दिया आदेश

रमजान का महीना मुसलमानों के लिए सबसे पवित्र महीना माना जाता है। इस पूरे महीने मुसलमान सूर्योदय के बाद और सूर्यास्त के पहले अन्न पानी ग्रहण नहीं करते हैं। वहीं अब कुछ ही समय बाद रमजान का पवित्र महिना शुरू होने वाला है।

इसी के साथ पवित्र महीने रमजान के शुरू होने से पहले सुप्रीम काउंसिल के सदस्य और शारजाह के शासक हिज हाइनेस डॉ शेख सुल्तान बिन मुहम्मद अल कासिमी ने पहले दंडात्मक और सुधारात्मक संस्थानों से 210 कैदियों को रिहा करने का आदेश दिया है। वहीं यह इशारा शासक की मानवीय पहल का हिस्सा है जो क्षमा और सहिष्णुता के मूल्यों पर आधारित है।

शारजाह पुलिस के कमांडर-इन-चीफ मेजर जनरल सैफ अल जरी अल शम्सी ने उदार क्षमा के लिए शारजाह के शासक के प्रति अपनी गहरी कृतज्ञता व्यक्त की, जो शारजाह में पारिवारिक इकाई का समर्थन करने के लिए महामहिम की उत्सुकता से आता है, जिससे खुशी मिलती है।

वहीं इसका उद्देश्य कैदियों को बेहतरी के लिए बदलने और नए सिरे से जीवन शुरू करने का मौका देना है। वहीं अल शम्सी को उम्मीद थी कि क्षमादान कैदियों को प्रेरित करेगा और उन्हें बेहतर जीवन जीने में मदद करेगा।

पवित्र महीने से पहले कैदियों को क्षमा करने की प्रथा एक वार्षिक है जिसका उद्देश्य पारिवारिक संबंधों को मजबूत करना है।

आपको बता दें, कुछ ही समय बाद रमजान का पवित्र महिना शुरू होने वाला है। खगोलीय गणना के अनुसार, 2 अप्रैल 2022 में रमजान के पहले दिन को चिह्नित करेगा। वास्तविक तिथि अर्धचंद्र के दर्शन से निर्धारित की जाएगी, जिस पर इस्लामी कैलेंडर आधारित है।

वहीं वर्धमान दिखने के आधार पर इस्लामी महीने 29 या 30 दिनों तक चलते हैं। वहीं उपवास की अवधि सूर्योदय और सूर्यास्त के आधार पर भिन्न होती है। महीने की शुरुआत में उपवास का समय 13 घंटे 40 मिनट का होगा। महीना खत्म होने तक, घंटे बढ़कर 14 घंटे 20 मिनट हो गए होंगे। इस साल रमजान 1 मई तक 30 दिनों तक चलने की उम्मीद है। ईद अल फितर शव्वाल के पहले दिन को चिह्नित किया जाता है – वह महीना जो हिजरी कैलेंडर में रमजान के बाद आता है। खगोलीय गणना के अनुसार इस साल ईद अल फितर 2 मई को पड़ने की उम्मीद है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button