Kuwait से आज भारतीय प्रवासी को अपने घर पैसा भेजने पर मिलेगा ज्यादा फायदा, जानिए वजह

0
340
money

भारत के बड़ी तदाद में प्रवासी और कामगार कुवैत समेत ज्यादातर खाड़ी देशों में काम करते हैं। इसमें से ज्यादातर यहां पर अच्छी नौकरी और बेहतर सैलरी के लिए आते हैं। यही वजह है कि खाड़ी देशों से बड़ी तदाद में प्रवासी अपने परिवार जनों को पैसा भी भेजते हैं।

अगर आज के नए रेट की बात किया जाए तो कुवैती दिनार के मुकाबले भारतीय रुपया में आज गिरावट दर्ज की गई है और इसके पीछे की वजह अमेरिकी डॉलर की बनी।

जानकारी के अनुसार, गुरूवार, 26 मई को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 77.61 पर खुला।

1 कुवैती दिनार की कीमत हुई 253.66 भारतीय रुपए

अगर आज कुवैती दिनार के मुकाबले भारतीय रूपए की बात करें तो मौजूदा समय में इसका रेट 253.66 भारतीय रूपए चल रहा है। ऐसे में अगर इस वक्त कोई भारतीय कामगार या फिर प्रवासी कुवैत से भारत पैसा भेजते हैं तो उन्हें एक्चेंज रेट में आज अच्छा रेट मिलने की वजह से ज्यादा फायदा हो सकता है, हालांकि आपको बता दें, एक्चेंज रेट लगातार परिवर्तित होती रहती है। ऐसे में प्रवासी और कामगारों को सलाह दी जाती है कि लेनदेन करने से पहले मुद्रा विनिमय प्रदाता के साथ सटीक दर की पुष्टि करें।

मालूम हो कि, डॉलर के कीमत में बदलाव होने पर भारतीय रूपये की कीमत में भी बदलाव होता है और इसके कारण कुवैत से भारत पैसे भेजने वालो को बड़ा फायदा होता है।

पैसे भेजते समय रखें इन बातों का ध्यान

गौरतलब है कि मुद्रा विनिमय दरों में प्रतिदिन, पल पल उतार-चढ़ाव देखने को मिलता रहता है। यही वजह है कि पैसा भेजने के मामले में सबसे अच्छे समय का चुनाव करना बेहद जरूरी होता है। ऐसा करके अधिक से अधिक लाभ उठाया जा सकता है। लेकिन इसके लिए आपके पास बेहतर विनिमय दर की प्रतीक्षा करने का समय जरूर होना चाहिए।

बाजार दर के बारे में कर लेना चाहिए मालूम

ध्यान देने वाली बात यह है कि प्रवासी भारतीय और विदेश रह रहे अन्य लोग स्वदेश पैसा भेजने से पहले मध्य बाजार दर के बारे में पता करने के लिए ऑनलाइन माध्यम से सर्च कर सकते हैं। जिसे अंतर बैंक दर भी कहा जाता है। और यही वास्तविक विनिमय दर है जो बैंक खुद के बीच मनी ट्रांसफर करने के लिए उपयोग करते हैं। और गूगल मनी, एक्सई, राइटर और अन्य के मध्य स्थानांतरण के रूप में मिलते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here