World

नौकरी का झांसा देकर एजेंट ने बुलाया दुबई, फिर जब्त किए पासपोर्ट और पैसे; परिवार को भी देता ध’मकी

देश में बेरोजगारी का आलम किस प्रकार का है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दिन-ब-दिन दर-दर की ठोकरें खाने वाले बेरोजगार ठगों के जाल में नौकरी पाने के चक्कर में आसानी से फंस कर रुपए पैसे सब गवां देते हैं। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है। मंगलवार को दुबई गए लोगों के परिजनों ने एसपी को पूरे मामले से अवगत कराया है।

परिजनों को फोन करके देता है ध’मकी

राजस्थान के सीकर स्थित धोद किरदौली के रहने वाले आबिद हुसैन ने जानकारी देते हुए कहा कि नागौर का एक युवक आरिफ हुसैन, जो दुबई में रहता है। वो शेखावटी के रहने वाले लोगों को नौकरी का लालच देते हुए अपने जाल में फंसा कर दुबई बुला लेता था।

पीड़ितों के दुबई पहुंचने पर आरोपी उनसे रुपए ऐंठ लेता था। जाकिर, अल्ताफ प्रभातीलाल, अयुब, शरीफ, हारून और कई अन्य लोगों को उसने दुबई बुलाकर उनका पासपोर्ट भी अपने पास रख लिया है।

इसके बाद आरोपी उनके परिजनों को फोन करके पैसों की मांग करता है। परिजनों के मना करने पर वह उन्हें फोन पर धमकि’यां देता है। आबिद ने कहा लोगों को ठगने वाला आरिफ पहले भी इस तरीके की कई वारदातों को अंजाम दे चुका है। लोगों से अब तक उसने 25 हजार ऐंठ लिए हैं।

कामगारों को अपने जाल में फंसा कर रुपए ऐंठने वाले गिरोह हुए सक्रिय

दरअसल, दुबई के अलावा अन्य खाड़ी देशों में सबसे अधिक कामगार शेखावटी के चूरू, झुंझुनू और सीकर की है। बीते दिनों कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण यहां की कंपनियों ने अपना काम बंद कर दिया था।

अब स्थितियां समान होने के बाद कामगारों को कंपनियों ने वापस बुलाना शुरू कर दिया है। ऐसी स्थिति में इन देशों में कामगारों को भेजने के नाम पर रुपए ठगने वाले लोग अपने काम धंधे में लग गए हैं।

गौरतलब है कि पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने जानकारी देते हुए कहा कि आबिद हुसैन ने नागौर के एक एजेंट आरिफ के विरुद्ध लोगों को दुबई बुलाकर रुपए लेने और पासपोर्ट ज़ब्त किए जाने की शिकायत की है। मामले को संज्ञान में लेकर उचित कार्रवाई की जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button