World

कुवैत में कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले, बकरीद के मौके पर बिना वेतन कटे मिलेगी 9 दिन की छुट्टी

कुवैत (Kuwait) की सरकार ने अपने कर्मचारियों को ईद अल अजहा (बकरीद) पर 9 दिनों की छुट्टी देने का ऐलान किया है। इतना ही नहीं इन 9 दिनों की पूरी तनख्वाह भी कर्मचारियों को दी जाएगी।

आपको बताते चलें कि कुवैत की सरकार ने आगामी त्यौहार बकरीद के अवसर पर देश के अंदर विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत कर्मचारियों को बकरीद की छुट्टी देने की घोषणा की है। बकरीद के शुभ अवसर पर कर्मचारियों की छुट्टियों की शुरुआत 10 जुलाई से हो जाएगी।

स्थानीय मीडिया के मुताबिक, कुवैत में सरकारी कर्मचारियों को अवकाश 10 जुलाई से लेकर 14 जुलाई मिलेगी। वहीं कुवैत में वीकेंड शुक्रवार और शनिवार को होता है। ऐसे में कर्मचारियों के लिए आठ से 16 जुलाई तक नौ दिनों का लंबा वीकेंड रहेगा और लोग 17 जुलाई से काम पर लौटेंगे।

इसको लेकर कुवैत सरकार के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के अनुसार, सभी सरकारी मंत्रालय और निकाय इस दौरान कामकाज नहीं करेंगे।

आपको जानकारी के लिए बता दें, इस बार ईद अल अजहा नौ-दस जुलाई 2022 को है। इससे एक दिन पहले आठ जुलाई को अराफात का दिन होगा। इसे इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक मुस्लिमों का सबसे खास दिन माना जाता है। यह हज तीर्थयात्रा का दूसरा दिन है और इसके बाद ईद अल अजहा का पहला दिन होता है।

EID

ईद अल अजहा को कुर्बानी का दिन भी कहा जाता है। इसे पूरे मुस्लिम समाज में पैगंबर अब्राहम की कुर्बानी के तौर पर याद किया जाता है। ईद अल अजहा दरअसल धू अल-हिजाह के 10वें दिन पड़ता है, जो इस्लामिक कैलेंडर का 12वां और आखिरी महीना है। ईद अल अजहा नाम अरबी भाषा से लिया गया है, जिसका मतलब है जानवर की कुर्बानी। पिछले साल यूएई में ईद अल अजहा का अवकाश 19 जुलाई से शुरू होकर 22 जुलाई तक रहा था।

आपको बता दें, Eid Al Adha दो प्रमुख त्योहारों में से एक है, और यह सभी मुसलमानों द्वारा मनाया जाने वाला त्यौहार है। यह मक्का की तीर्थयात्रा के समापन का प्रतीक है, जिसे हज के रूप में जाना जाता है। वहीं बकरीद को ईद-उल-अजहा, ईद-उल-जुहा, बकरा ईद, के नाम से जाना जाता है। इस्लामिक कैलेंडर के मान्यता अनुसार, हर साल बकरीद 12वें महीने की 10 तारीख को मनाई जाती है। यह रमजान माह के खत्म होने के लगभग 70 दिनों के बाद मनाई जाती है।

ये भी पढ़ें- कुवैत में कामगारों के लिए कितना है न्यूनतम वेतन, श्रम कानून के अनुसार कितने घंटे करना होता है काम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button