World

Dubai में 21 करोड़ 57 लाख रुपए का विजेता बना भारतीय प्रवासी, महजूज ड्राॅ ने ऐसे पलटी किस्मत

दुबई में 83वें महज़ूज़ ड्रॉ के इनाम की घोषणा हुई है और इस बार भारत राज्य केरल के अनीश ने ये इनाम जीता है। जानकारी के अनुसार, आईटी इंजीनियर अनीश ने इस ड्रा में 24वीं बहु-मिलियन पुरस्कार जीत हासिल करने के बाद 10 मिलियन दिरहम (करीब 21 करोड़ 57 लाख रुपए) का इनाम जीता है।

वहीं अपनी जीत को लेकर अनीश ने कहा कि चार दिनों के बाद भी, अभी भी ये जीत एक सपना जैसी लग रही है। वहीं जब उनसे पूछा गया कि वह 10 मिलियन दिरहम (करीब 21 करोड़ 57 लाख रुपए) के भव्य पुरस्कार के साथ क्या करेंगे, तो उन्होंने जवाब दिया, इन पैसों से मेरी पहली खरीद एक कार होगी क्योंकि मेरे पास अभी तक एक कार भी नहीं है।

वहीं उन्होंने ये भी कहा कि मुझे हाल ही में जीत की खबर मिली है, जिसके बाद अब मुझे केरल में अपने परिवार के साथ परामर्श करने के बाद सोचने और ठीक से योजना बनाने की जरूरत है। मैं अभी कुछ नहीं कह सकता कि मैं इन पैसे के साथ क्या करने जा रहा हूं।

वहीं उन्होंने ये भी कहा कि  “शायद, मैं इस इनाम के पैसों से संपत्ति खरीदूंगा या यहां कहीं निवेश करूंगा। मैं पुरस्कार राशि का उपयोग अपने कर्ज चुकाने के लिए भी करूंगा, परिवार के सदस्यों की मदद करूंगा जो जरूरतमंद हैं और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि मैं अपने परिवार को यहां लाऊंगा। मेरे साथ रहने के लिए संयुक्त अरब अमीरात। मैं अधिक विवेकपूर्ण ढंग से सोचना चाहता हूं और ठीक से कदम उठाना चाहता हूं और कुछ समय के लिए आराम भी करना चाहता हूं।”

इस इनाम की जानकारी अनीश को तब पता चली जब वो वह शनिवार की शाम को एक फिल्म देख आराम कर रहे थे। वे कहते हैं, “एक व्यस्त कार्य सप्ताह के बाद, मैं बैठा था और एक फिल्म देख रहा था लगभग 9.30 बजे मैंने अपने खाते में प्रवेश करने के बारे में सोचा। मैंने देखा कि तीन नंबर समान हैं, जिसका मतलब है कि मुझे मिल जाएगा निश्चित रूप से Dh350 कम से कम मैंने जो खर्च किया था, उसे वापस पा लूंगा।

फिर मैंने देखा कि अन्य दो नंबर भी समान थे। मैं यह देखकर चौंक गया कि मैं शीर्ष पुरस्कार विजेता था। मुझे अपनी आँखों पर विश्वास नहीं हो रहा था। मैं उस दिन की भावनाओं को शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकता। फिर मैंने एक करीबी दोस्त को फोन किया। और उनसे अनुरोध किया कि जो मैंने देखा उसकी पुष्टि करें। सच कहूं, तो वास्तविकता अभी भी डूब रही है।

इसी के साथ 39 वर्षीय अनीश ने ये भी कहा कि, “मेरे सहयोगी आ रहे हैं और मेरे साथ सेल्फी ले रहे हैं। मैंने शनिवार से अब तक कितने कॉल और व्हाट्सएप संदेश प्राप्त किए हैं, इसकी गिनती खो दी है। ऑफिस में भी सभी मुझे बधाई दे रहे हैं। मेरे बॉस ने मुझसे पूछा कि क्या मैं अपनी नौकरी छोड़ दूंगा। लेकिन मैंने कहा नहीं, तब तक नहीं जब तक वे मुझे जाने के लिए न कहें।”

वहीं अब अनीश सभी को महज़ूज़ ड्रॉ में भाग लेने और अपनी किस्मत आजमाने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। वहीं उन्होंने कहा कि “आप कभी नहीं जानते कि किस्मत कब आप पर मुस्कुराने का फैसला करती है। मुझे ऐसा अवसर देने के लिए मैं महज़ूज़ का बहुत आभारी हूँ। मैं इस अद्भुत देश, संयुक्त अरब अमीरात का ऋणी हूं, जहां सपने सच होते हैं और अंतिम लेकिन कम से कम नहीं, मैं सर्वशक्तिमान का आभारी हूं। ”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button