World

UAE: 2 साल के बेटे द्वारा चुने गए टिकट से खुली भारतीय प्रवासी की किस्मत, लगा 62 लाख रुपए का जैकपाॅट

UAE में बिग टिकट के साप्ताहिक ड्रा के इनाम की घोषणा हुई है और इस बार का इनाम उस भारतीय प्रवासी ने जीता है जिसने अपने दो साल के बेटे द्वारा चुने गए टिकट को खरीदा और उस टिकट पर इस शख्स ने ड्रा में Dh300,000 ( करीब 62 लाख रुपए) का इनाम जीता।

जानकारी के अनुसार, कतर के रहने वाले तारिक शेख पिछले एक साल से हर महीने अपने दोस्तों के साथ बिग टिकट खरीद रहे हैं। वहीं इस बार बिग टिकट ड्रा में जैकपॉट लगा और वह रमजान के पवित्र महीने के दौरान जीत हासिल करके खुश हैं।

अपनी जीत को लेकर उन्होंने कहा कि “मेरे कुछ दोस्तों को वास्तव में पैसे की ज़रूरत थी, मेरा एक दोस्त के बहन की शादी अगले महीने होने वाली है। इसलिए यह सही समय है। तारिक इस महीने के साप्ताहिक इलेक्ट्रॉनिक ड्रॉ के तीसरे विजेता हैं।”

वहीं उन्होंने बताया कि “इलेक्ट्रॉनिक ड्राइंग के कारण, हमने आमतौर पर महीने के अंत के बजाय इस महीने की शुरुआत में टिकट खरीदा और विजयी टिकट नं। 108475 को उनके बेटे ने चुना था।”

तारिक शेख ने ये भी कहा कि “इस बार, मैंने अपने दो साल के बेटे द्वारा चुने गए एक टिकट नंबर को लिया था, और उसने जीतने वाली संख्या को चुना। मेरे बेटे द्वारा नंबर चुनने के परिणामस्वरूप, मैंने आज जीत हासिल की है।”

गौरतलब है कि इसके पहले 73वें साप्ताहिक लाइव महज़ूज़ ड्रा में दो भारतीय प्रवासी विजेताओं को भी Dh100,000 की राशि मिली। दुबई में रहने वाले 34 वर्षीय भारतीय सेल्समैन सुल्फिकार को कतर में एक दोस्त ने इस जीत की सूचना दी। वहीं उन्होंने कहा कि “मेरा दोस्त भी महज़ूज़ में नियमित रूप से भाग लेता है क्योंकि ड्रॉ अंतरराष्ट्रीय प्रतिभागियों के लिए खुला है।

पहले तो मुझे लगा कि वह मेरे साथ मज़ाक कर रहा है, लेकिन जब मैंने अपने लिए परिणामों की जाँच की, तो मैं बहुत खुश हुई! मैंने खुशखबरी साझा करने के लिए अपने बॉस और अपने दोस्तों को फोन किया।”

वहीं अब सुल्फिकार भारत में अपने सपनों के घर के निर्माण को पूरा करने के लिए अपनी पुरस्कार राशि को उपयोग करने की योजना बना रहे हैं। वहीं उन्होंने कहा कि “मैं कुछ पैसे भारत में अपने किराने की दुकान के विस्तार में लगाऊंगा। यह एक छोटा व्यवसाय है, लेकिन यह पैसा इसमें नई जान फूंकने में मदद करेगा।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button